Advertisements

छोटी सी ख़ुशियाँ :बच्चों की छोटी दीवाली हुई उम्मीद से बड़ी

पोलो मैदान मुंगेर में  एक बार फिर युवाओ ने छोटी दीवाली हर्षोल्लास के साथ  एक अलग ही अंदाज़ में  मनाया

अतुल्य मुंगेर के युवाओ की  टीम ने पिछले साल  छोटी सी खुशियां के सफल होने के बाद इसके तर्ज पर इस साल भी दीवाली से एक दिन पूर्व छोटी सी खुशियां 2.0 की पहल रखा। इस कार्यक्रम को पिछले साल से भी अधिक आकर्षक बनाने के लिए  सभी सदस्यों ने काफी मेहनत किया। हम कुछ दिन पहले से ही इसकी तैयारी में जुट गए। इसके लिये हमने सोशल मीडिया का भी सहारा लिया।हमने लोगो को हमसे प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से जुड़ने को कहा।



टीम ने शाम के 4 बजे मुंगेर बस स्टैंड, किला परिसर स्थित मुसहरी टोला एवम पूरबसराय झोपड़पट्टी के 
लगभग 200 बच्चो को  पोलो मैदान में आमंत्रित किया। निर्धारित समय पर ज्यों ही टीम वहां पहुंची सबने देखा बच्चे समय से पहले ही आकर हमारा इंतेज़ार कर रहे थे। टीम को देखते ही उनकी खुशी का ठिकाना न रहा।वे उत्साहित दिख रहे थे।हमने बच्चो के बीच चॉकलेट, केक, बिस्कुट इत्यादि का वितरण किया।इसके बाद  कुछ बच्चो ने  अपने कला का प्रदर्शन किया। किसी ने  गाना सुनाया तो किसी ने अपने डांस के प्रदर्शन से हमारा मन मोह लिया तो किसी ने अपनी बचकानी हरकतों से सबो को खूब हसाया।

इसके पश्चात हमने उनके बीच मिठाइयों, मोमबतियां और पटाखे के डब्बा का वितरण किया। बच्चे मिठाइयों और पटाखे के डब्बा लेने के बाद  काफी उत्साहित हुए और पटाखों को जलाने में जड़ा भी देरी नही की। पोलो मैदान मुंगेर में  सभी युवा और ये बच्चे दिवाली मानाने में जुट गए ।पोलो मैदान की शाम एक बार फिर ढली पर कुछ अद्भुत नज़ारो के साथ और उन बच्चों की छोटी दीवाली हो गयी  उम्मीद से भी बड़ी । जब हवाई गुब्बारों को आकाश में  छोरा गया तो उन बच्चों की आंखें आकाश  की ओर तक गई। बच्चे के बीच हैप्पी दिवाली हैप्पी दिवाली की खूब शोर मची ।हमने  बच्चो को भी दीवाली की शुभकामनाएं दी 

अमन का कहना है कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य वैसे बच्चे जो इस प्रकाश के पर्व में मिठाई एवम पटाखें से वंचित रह जाते है उन सब के बीच दीवाली की खुशियो को बाटना है ताकि वे अपने दुख दर्द को भूल कर हमारी खुशी का एक हिस्सा बन सके। वही निर्मल का कहना था की दीवाली का मतलब ही होता है खुशी बाटना और ऐसे भी असली खुशी तो बच्चो की मुस्कुराहट में छिपी होती है।

  इस कार्यक्रम को सफलता की सीढ़ी तक पहुंचाने के लिये दीप , प्रेम, बादल, अमित, सिद्दार्थ, रोबिन, राजीव, रौशन,राकेश, राजेश, निर्मल, सोनी , इली, आमिर, हर्ष, अमन, मुकेश एवम टीम से जुड़े सभी सदस्यों, समर्थकों तथा दाताओ का आभार वयक्त करती है।

 

Facebook Comments
Advertisements

Incredible Munger Bihar

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: